सब रजिस्ट्रार कैसे बनें ? (Sub registrar kaise bane ?)

 आप लोगों ने कभी ना कभी सब रजिस्टार का नाम अवश्य सुना होगा या बहुत सी फिल्मों में सब रजिस्टार के बारे में सुना होगा यदि आप सब रजिस्टार के बारे में नहीं जानते हैं तो आज के इस पोस्ट में हम सब रजिस्ट्रार के बारे सारी जानकारियां प्राप्त करेंगे। इसमें हम जानेंगे कि सब रजिस्ट्रार कौन होता है?सब रजिस्ट्रार बनने के लिए योग्यताएं। सब रजिस्ट्रार कैसे बनें? (Sub registrar kaise bane ?)  सब रजिस्ट्रार की सैलरी और सब रजिस्ट्रार को मिलने वाली सुविधाएं क्या होती है। इसके अलावा एक सब रजिस्ट्रार का काम क्या होता है। तो इस पोस्ट में अंत तक बने रहे ताकि आपको सारी जानकारी मिल सकें। 


सब रजिस्ट्रार कौन होता है :

आप सब रजिस्टर का नाम तो आप लोगों ने सुना होगा लेकिन शायद आपको यह नहीं पता है कि सब रजिस्टार कौन होता है सब रजिस्टार जिले में राजस्व विभाग के प्रमुख कर्मचारी होते हैं और भूमि लेन देन, पंजीकरण संबंधित मामलों को देखते हैं यानी राजस्व विभाग में भूमि से संबंधित सभी प्रकार के मामलों में एसडीएम तहसीलदार आदि की सहायता प्रदान करते हैं


सब रजिस्ट्रार का कार्य :

हम लोगों में से अधिकतर लोग शायद यह पता होगा कि एक सब रजिस्ट्रार कार्य क्या करते हैं। एक जिले के सब रजिस्ट्रार का कार्य संपत्ति के लेन देन से संबंधित दस्तावेजों को पंजीकृत एवम् उचित स्टाम्प शुल्क व पंजीकरण शुल्क निर्धारित करना है। यानी कहने का तात्पर्य यह है कि जब आप अपनी जमीन किसी अन्य व्यक्ति को बेचते है तो उसकी कानूनी दस्तावेज जैसे स्टाम्प / पंजीकरण का सत्यापन एक सब रजिस्टार करता है। तब जाकर आपकी संपत्ति दूसरे व्यक्ति के नाम होती है। यानी कुल मिलाकर जमीन बेचने से लेकर खरीदने तक सभी दस्तावेज का सत्यापन हेतु सब रजिस्ट्रार ज़िम्मेदार होता है। और उसके द्वारा उठाए गए गलत कदम की जांच जिले का कलेक्टर करता है। सब रजिस्ट्रार पर एक कलेक्टर का पूरा नियंत्रण रहता है। 


सब रजिस्ट्रार बनने के लिए योगताए:

एक सब रजिस्टार बनने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए–


  • आवेदक के पास भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री किसी भी विषय में होना चाहिए।
  • स्नातक के अलावा आवेदक के पास एलएलबी (LLB) की डिग्री होनी चाहिए। यह LLB 3 साल का होता है। यदि आप BA LLB करते हैं तो 5 वर्ष में हो जाता है। 
  • आवेदक की उम्र 21–40 वर्ष होना चाहिए।



सब रजिस्ट्रार कैसे बनें ? (Sub registrar kaise bane ?) 

सब रजिस्ट्रार कैसे बनें। यदि आपका सपना एक सब रजिस्ट्रार बनने का है तो आपको अपने सपने के लिए मेहनत करते की जरुरत है। एक सब रजिस्ट्रार बनने के लिए निम्न प्रक्रिया है। आइए एक–एक सभी चरणो को समझते है। 


1. 12वी पास करें


सब रजिस्ट्रार बनने के लिए सबसे पहले आपको अपनी प्रारंभिक शिक्षा यानी 12th पास करनी होगी। आवेदक का 12th किसी भी बोर्ड से और किसी भी विषय में पास होना आवश्य है। तब जाकर सब रजिस्ट्रार बनने का एक चरण पूरा होता है।  


2. LLB/BA LLB करे :

सब रजिस्ट्रार बनने के सफर में जब आप 12th पास कर लेते हैं तो आपको किसी भी मान्यता लॉ कॉलेज में से LLB करना होता है। यह एलएलबी कुल 3 वर्ष का होता है। एलएलबी करने के लिए आवेदक ग्रैजुएशन किया होना चाहिए। और यदि आप 12th के बाद ही LLB करना चाहते है तो आपको BA LLB/B.Sc LLB करना चाहिए। यह कुल 5 वर्ष का होता है। तब जाकर ही आप सब रजिस्ट्रार बनने के सफर में आगे जायेंगे। 


3. UPPSC के लिए आवेदन करें

जब आप एलएलबी कर लेते है तो आपके लिए यह आवश्यक है कि आप जिस भी राज्य में रहते हैं तो वहा के स्टेट PSC का पेपर के लिए आवेदन करें। यदि आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं तो UPSSSC के लिए आवेदन करें। बिहार के है तो BPSC आदि। जब आप UPSSSC के लिए आवेदन करते है तो UPSSSC के द्वारा एग्जाम कराया जाता है  


4. तैयारी करें और एग्जाम पास करें:


जैसा कि आप सब लोगो को पता है कि जब UPSSSC के लिए आवेदन करते है तो UPSSSC के द्वारा एग्जाम कराया जाता है । तो आपके लिए यह जरूरी है कि बेहतर ढंग से पढ़ाई करे । तैयारी करें । और परीक्षा को पास करें। ताकि आपका सपना सब रजिस्ट्रार बनने का पुरा हो सके। 



सब रजिस्ट्रार की सैलरी :

कोई भी नौकरी हो लोगो की रुचि सैलेरी जानने में जरूर होती है। और जानने के उत्सुकता को खत्म करते हुए बताते है कि एक सब रजिस्ट्रार की सैलरी पे लेवल 10 के अनुसार 15,100₹ से 132,000₹ के बीच में होता है। 

यानी एक सब रजिस्ट्रार की शुरुआती सैलरी 15,100 ₹ से शुरू होता है। और यह एक लाख रूपये तक जाता है।

इसके अलावा भी वही सभी सुविधाए मिलती है जो एक सरकारी नौकरी में मिलती है। जैसे TA, DA ,HRA आदि


सब रजिस्ट्रार को मिलने वाली सुविधाएं :

आइए जानते है कि जब आप एक सब रजिस्ट्रार बन जायेंगे तो आपको क्या क्या सुविधाएं मिलेंगी। एक सब रजिस्ट्रार बनने के बाद निम्न सुविधाएं मिलती है। 

  • बात करने के लिए फोन कॉल मुफ़्त 
  • ऑफिस जाने –आने के लिए गाड़ी
  • मेडिकल खर्च मुफ्त
  • घर में कामों के लिए मुफ़्त नौकर
  • Study leave की व्यवस्था यानी अन्य पढ़ाई के लिए छुट्टी की व्यवस्था। 
  • TA, DA और HRA आदि भी मिलता है।


आज के इस पोस्ट में हमने जिले के प्रशासन विभाग के प्रमुख पद सब रजिस्ट्रार के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की। इसमें हमने सब रजिस्ट्रार बनने के संबंध में जानकारी दिया गया है। यदि अभी भी आप लोगो मन में कोई सवाल हो तो कॉमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। हमे आपकी सहायता करके खुशी होगी। जिससे आपको पूरी तरह से सब रजिस्ट्रार कैसे बनें ? (Sub registrar kaise bane ?) बताया गया है। धन्यवाद

जय हिंद 

वंदे मातरम्




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ