Physiotherapist कैसे बनें ? पूरी जानकारी ।

Physiotherapist कैसे बनें:


क्या आप लोगों ने अपने जीवन में कभी ना कभी फिजियोथैरेपिस्ट का नाम सुना या फिजियोथैरेपी का नाम सुना। यदि नहीं सुना है तो आज के इस पोस्ट में हम फिजियोथेरेपी के बारे में ही बात करने वाले हैं।  इसमें हम जानेंगे कि फिजियोथेरेपी क्या होता है ? फिजियोथैरेपिस्ट कैसे बनें?  फिजियोथैरेपिस्ट बनने के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए ? एवम फिजियोथैरेपिस्ट की सैलरी कितनी होती है? फिजियोथैरेपी कितने प्रकार की होती हैं? और फिजियो थेरेपी के क्षेत्र में प्रमुख कोर्स कौन-कौन से हैं?   इस प्रकार से आप लोगों को इस पोस्ट में फिजियो थेरेपी से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का उत्तर मिलेंगे तो आप लोगों से अनुरोध है कि इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़ें। 


फिजियोथेरेपी क्या होता है ?

फिजियोथैरेपी को हिंदी में भौतिक चिकित्सा पद्धति कहते हैं फिजियोथैरेपी चिकित्सा कि वह पद्धति है जिसमें शारीरिक व्यायाम , मालिश , कसरत व भौतिक उपचार के द्वारा रोगों को दूर किया जाता है। यह काफी सस्ता होता है और इसका साइड इफेक्ट नहीं होता है। फिजियो थेरेपी दवाओं का उपयोग कम कर के मरीजों को बेहतर शेयर प्रदान करती है। जिससे लोग लंबे समय तक सेहतमंद रहते हैं। 


जो लोग दवा के सेवन से परेशान हो जाते हैं तथा कुछ भी नुक्शा कार्य नहीं करता है तो लोग फिजियो थेरेपी की सहायता लेते हैं। क्योंकि एक यही पद्धति है जिसके द्वारा दवाओं की सेवन को कम करके रोग मुक्त बनाने में सहायता प्रदान करता है।



फिजियोथेरेपी के प्रकार :

फिजियोथेरेपी इस आधुनिक समय में बहुत आवश्यक चिकित्सा पद्धति है। यह चिकित्सा पद्धति निम्न प्रकार की होती है –


  • Geriatrio physical therapy
  • Sports physical therapy
  • Orthopedic physical therapy
  • Pediatric physical therapy


इसके अलावा भी फिजियोथैरेपी कई प्रकार की होती है। ऊपर बताई गई फिजियोथैरेपी प्रमुख है 


फिजियोथैरेपिस्ट बनने के लिए योग्यताएं : 


एक फिजियोथेरेपिस्ट बनने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए


  1. आवेदक 12 वीं पास होना चाहिए
  2. आवेदक का 12वीं में प्राप्तांक कम से कम 50% होना चाहिए
  3. आवेदक का 12वीं में विषय बायोलॉजी फिजिक्स केमिस्ट्री होना चाहिए



फिजियोथैरेपिस्ट कैसे बनें ? पूरी प्रक्रिया : 


फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में फिजियोथैरेपिस्ट की मांग दिन–प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। जैसे जैसे लोग दवाओं के सेवन से परेशान हो रहे है तो वे किसी अच्छे फिजियोथैरेपिस्ट का सहारा ले रहे है। तो एक फिजियोथैरेपिस्ट बनने के लिए निम्न चरण होते है जो इस प्रकार है। एक फिजियोथैरेपिस्ट बनने के प्रक्रिया आपको स्टेप बाई स्टेप बताने जा रहे है –


1. 12वी पास करें 


यदि आप चाहते है कि आप एक फिजियोथैरेपिस्ट बनके लोगों के बीमारियों को दूर करना । तो आप भी ऐसा कर सकते है । यदि आप अभी छोटे है। तो सबसे पहले आपको 12 पास करने होंगे। 12 में आपको बायोलॉजी विषय का चयन करना होगा। इस तरह से जब आप 12 पास करते है तो फिजियोथैरेपिस्ट बनने के पहले चरण को पास कर लेते है। और अगले चरण में प्रवेश करते है।  



2. प्रवेश परीक्षा दें : 


फिजियोथैरेपिस्ट बनने ने सफर आवेदक जब अपनी 12 का परीक्षा पास कर लेता है तो उसे फिजियोथैरेपिस्ट बनने के लिए फिजियोथैरैपी के क्षेत्र में प्रमुख कोर्स करने होते है । और इन कोर्स को करने के लिए आवेदक को प्रवेश परीक्षा देनी होती है। कुछ प्रवेश परीक्षा के नाम इस प्रकार है–

  • 1. IPU CET 
  • 2. LPUNEXT
  • 3. NILD CET



इस तरह से जब आप इस प्रवेश परीक्षा को पास कर लेते है तो आपको फिजियोथैरेपी का कोर्स करना होता है। 



3. फिजियोथैरेपी से संबंधित कोर्स करें


जब आप फिजियोथैरेपी से सम्बन्धित कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा पास कर लेते है तो आपको निम्न प्रकार के कोर्स में से किसी एक कोर्स को करना होता है। उसके बाद आप एक फिजियोथैरेपिस्ट बनकर मरीजों का इलाज कर सकते है। और फिजियोथैरेपिस्ट बनके अपने सपनो को साकार कर सकते है। 



4. जॉब करें / खुद की शॉप खोलें : 


जब आप फिजियोथैरेपी के क्षेत्र में प्रमुख कोर्स कर लेते है तो उसके बाद आप आने वाली वेकैंसी में से किसी भी वेकैंसी के लिए आवेदन कर सकते है। और एक अच्छी जॉब पा सकते है। इसके अलावा आप खुद का एक शॉप खोल सकते है। जिसके बाद आप मरीजों का इलाज करना शुरू का सकते है। उसके लिए आप जहा शॉप खोलना चाहते है वहा की अच्छी जानकारी होना चाहिए। ताकि आपकी शॉप अच्छी प्रकार से विकसित हो सके।  


फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में प्रमुख कोर्स : 

वैसे फिजियोथैरेपी के क्षेत्र में बहुत से कोर्स होते है। लेकिन इस पोस्ट में हम आपको सभी कोर्स के बारे में न बताकर कुछ प्रमुख कोर्स के बारे ने बताएंगे तो आप इसमें से किसी एक को चुन सकते है। 


  1. Bachelor of physiotherapy (BPT)
  2. Diploma in physiotherapy (DPT)
  3. Master of physiotherapy (MPT)
  4. Post graduate diploma in physiotherapy (PGDPT)


1. BPT (Bachelor of physiotherapy )


इन कोर्स में से BPT का कोर्स कुल 4 वर्ष का होता है। 

। यह फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में स्नातक की डिग्री है। इस कोर्स को आप सरकारी या निजी किसी भी संस्थान से कर सकते है।  


2. Diploma in physiotherapy


फिजियोथैरेपी के क्षेत्र में आवेदक यदि चाहे ही डिप्लोमा भी कर सकते है । डिप्लोमा का मांग भी आज के समय में कम नहीं है । डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी का कोर्स कुल 2 वर्ष का होता है। इसके लिए भी आपको प्रवेश परीक्षा से गुजरना पड़ता है।  


3. Master of physiotherapy


यदि आपने फिजियोथैरेपी के क्षेत्र में ग्रैजुएशन कर लिया है। या करने के सोच रहे है तो ग्रैजुएशन के बाद एक कोर्स है । जिसे master of physiotherapy कहते है। यह पोस्ट ग्रैजुएशन का डिग्री होता है । यह भी कुल 2 वर्ष का कोर्स है। यह वही आवेदक कर सकते है। जो अपना ग्रैजुएशन पूरी कर चुके है । 


                               4.

Post graduate diploma in physiotherapy


यह एक फिजियोथैरेपी के क्षेत्र में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा का कोर्स है । यह 1 वर्ष का होता है। जब आप diploma In physiotherapy का कोर्स पूरा कर लेते है तो आप पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा का कोर्स कर सकते है।  


फिजियोथैरेपिस्ट की सैलरी : 

जब आप फिजियोथैरेपी का कोर्स कर लेते हैं और एक फिजियोथेरेपिस्ट बन जाते हैं। तो फिजियोथैरेपिस्ट बनने से पहले आपको यह जान लेना आवश्यक है एक फिजियोथेरेपिस्ट की सैलरी कितनी मिलती है एक अच्छे फिजियोथेरेपिस्ट की सैलरी एक लाख रुपए प्रतिमाह से शुरू होती है। और यह 2.50 लाख प्रतिमाह तक होती है। इस तरह से देख जाय तो एक फिजियोथैरेपिस्ट की सैलरी बहुत ही अच्छी है । 


फिजियोथैरेपिस्ट के लिए कैरियर विकल्प : 


जब आप फिजियोथैरेपिस्ट का कोर्स कर लेते हैं तो आपके मन में यह सवाल आता है कि फिजियो थेरेपी के क्षेत्र में क्या फिजियोथेरेपिस्ट की मांग है तो आइए जानते हैं कि फिजियोथैरेपिस्ट के लिए क्या-क्या करियर अवसर होते हैं–

  1. फिजियोथैरेपिस्ट के रूप में
  2. रिसर्च एसिटेंट के रूप में 
  3. प्रवक्ता ( Lecturer) केे तौर पर
  4. खुद की फिजियोथैरेपी शॉप खोलकर


आज का हमारा यह पोस्ट फिजियोथेरेपिस्ट कैसे बनें ?  ( physiotherapist kaise bane ?) कैसा  लगा हमे कॉमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। यदि अभी भी आपके मन में फिजियोथेरेपिस्ट बनने के संबंध में कोई सवाल हो तो आप हमसे पूछ सकते है। हम शीघ्र ही आपके प्रश्न का उत्तर देगें। धन्यवाद 

जय हिंद वंदे मातरम्


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ