जेल वार्डन ( jail warden ) कैसे बने ? ( Jail warden kaise bane )

जेल वार्डन ( jail warden ) कैसे बने ? ( Jail warden kaise bane ) 


जेल वार्डन ( jail warden ) किसे कहते हैं ? जेल वार्डन का कार्य क्या होता है? जेल वार्डन करने के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए? जेल वार्डन कैसे बने? ( Jail warden kaise bane ? ) जेल वार्डन का वेतन कितना होता है? जेल वार्डन तथा जेल प्रहरी में क्या अंतर है? जेल वार्डन ( jail warden ) का प्रोमोशन कैसे होता है? आज के इस पोस्ट में आपको जेल वार्डन से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां दी जाएंगी तो उम्मीद करता हूं कि आप लोग इस पोस्ट को अंत तक पड़ेंगे मुझे यकीन है कि यदि आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते हैं तो आपको जेल वार्डर से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी से अवगत होंगे। 




समाज में हो रहे हैं अपराधों के कारण जिलों की संख्या में वृद्धि हो रही है ठीक उसी प्रकार जेलों में काम करने के लिए तरह-तरह के अधिकारियों की वैकेंसी अभी निकल रही है तो ऐसे में जेल विभाग में जेल वार्डन की वैकेंसी अभी निकाली जा रही है जेल वार्डन वह व्यक्ति होता है जो जेलर के अंतर्गत कार्य करता है इसके बारे में और अधिक जानकारी के लिए आपको इस पोस्ट को पूरा अंत तक पढ़ना होगा तो चलिए इस पोस्ट में आगे बढ़ते हैं।


जेल वार्डन किसे कहते हैं :


जेल वार्डन ( jail warden ) एक अंग्रेजी शब्द है जिसका अर्थ होता है जेल प्रहरी। यानी जैसा कि नाम से ही परिचित है कि वह व्यक्ति या अधिकारी जो जेल की सुरक्षा के लिए पर प्रहरी के रूप में कार्य करता है जेल वार्डन कहलाता है। इसे जेल प्रहरी के नाम से भी जानते है। तो आगे हम जानेंगे के जेल वार्डन या जेल प्रहरी कैसे बनें। (Jail warden kaise bane ?) सभी जानकारी इसी पोस्ट में जानने को मिलेगा। 



जेल वार्डन( jail warden )का कार्य :


जल विभाग में कार्य करने वाले जेल वार्डन ( jail warden ) का कार्य निम्न प्रकार के होते हैं आइए एक-एक करके उनके कार्यों के बारे में जानते हैं।

  • जेल वार्डन का मुख्य कार्य जेल के अंदर सुरक्षा व्यवस्था नियंत्रण करना है
  • जेल के कैदियों की सुरक्षा का दायित्व जेल वार्डन के कंधों पर होती है।
  • एक जेल वार्डन की पोस्टिंग जेल के अंदर कैदियों के देखरेख तथा अन्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए होता है यह जेल में सबसे छोटा पद होता है इनका कार्य जेलर के आदेशों का पालन करना होता है। 
  • उनके प्रमुख कार्यों में एक कार्य है कि जेल में बंदियों को मिलने वाले लोगों की सुरक्षा की जांच करना ताकि जेल के भीतर कोई खतरा वाले सामग्री ना पहुंचे।


जेल वार्डन करने के लिए योग्यताएं :  


एक जेल वार्डन बनने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए–


शैक्षिक योग्यता :


  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए
  • आवेदक 12 वीं पास होना चाहिए। 12वीं किसी भी विषय से पास किया है।
  • यदि आवेदक डिप्लोमा किया हो तो भी इस पद के लिए आवेदन कर सकता है
  • आवेदक की उम्र पुरुष के लिए 18 से 22 वर्ष तथा महिला के लिए 18 से 25 वर्ष होता है


शारीरिक योग्यता : 


पुरुष के लिए :

  • आवेदक की हाइट पुरुष के लिए जनरल/ओबीसी हेतु 168 सेंटीमीटर निर्धारित किया गया।
  • आवेदक की हाइट पुरुष के लिए एसटी/एससी हेतु 160 cm निर्धारित की गई हैं। 

  • पुरुष के लिए चेस्ट की साइज कम से कम 79 cm और फुलाने आने पर 5 सेंटीमीटर बढ़ना चाहिए। यानी 84 cm होना चाहिए। यह मानक GEN/OBC वालों के लिए है । 
  • पुरुष के लिए चेस्ट की साइज एसटी एससी वालों के लिए
  • कम से कम 77 सेंटीमीटर तथा फुलाने करने पर 82 सेंटीमीटर होना चाहिए। 



महिला के लिए :

  • एक महिला अभ्यर्थी के लिए GEN/OBC वालों की हाइट एक 152 सेंटीमीटर होना चाहिए तथा एसटी/एससी वालों के लिए 147 cm होना चाहिए। 
  • एक महिला के लिए उसका वजन कम से कम 40 kg होना चाहिए। 


दौड़ –

जेल वार्डन ( jail warden ) बनने के लिए निर्धारित किए गए दौड़ पुरुष के लिए 4.8 किलोमीटर 25 मिनट में तय करना होता है तथा महिला के लिए 2.4 किलोमीटर 14 मिनट में करना होता है। यह मानक अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग हो सकता है। तथा यह समय-समय पर बदलती रहती है।


जेल वार्डन (jail warden )कैसे बने? 


जेल वार्डन बनने के लिए हर राज्यों की सरकार अपने अपने राज्यों में जल विभाग के लिए जेल वार्डन की वैकेंसी निकालती हैं। इस वेकैंसी के लिए राज्य सरकार द्वारा एग्जाम कराया जाता है। इस एग्जाम के चार चरण होते है आइए एक एक करके इनके बारे में जानते है। 


पहला चरण – लिखित टेस्ट 


जेल वार्डन ( jail warden ) बनने के लिए आवेदक को सबसे पहले चरण में लिखित परीक्षा से गुजरना पड़ता है। जेल वार्डन का यह एग्जाम 300 अंकों का होता है। इसमें निम्न विषय 

 से प्रश्न पूछें जाते है।


  • सामान्य ज्ञान
  • सामान्य हिंदी 
  • संख्यात्मक और मानसिक योग्यता 
  • तार्किक क्षमता , बुद्धिमता और मानसिक कौशल 


इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है। यह एग्जाम MCQ type का होता है। इसमें कुल 300 प्रश्न आते है । इस पेपर में उपरोक्त चार विषय से प्रश्न आते है। इस एग्जाम को पास करने के बाद आप अगले चरण में पहुंचते है। 


दूसरा चरण – शारीरिक मानक परीक्षण : 


जेल वार्डन बनने के लिए दूसरे चरण में आवेदक का शारीरिक मानव परीक्षण किया जाता है। इस परीक्षण में दौड़ कराया जाता है। पुरूष आवेदक के लिए यह दौड़ 4.8 किलोमीटर 25 मिनट में तय करना होता है तथा महिला के लिए इस दौड़ में 2.4 किलोमीटर 14 मिनट में तय करना रहता है। जब आप इस दौड़ को पास कर लेते हैं तो आप जेल वार्डन बनने के दूसरे चरण को पास कर लेते हैं और अगले चरण में योग्य हो जाते है।  


तीसरा चरण – शारीरिक मापन परीक्षण : 


इस चरण में आवेदक का शारीरिक मापन किया जाता है इसके अंतर्गत आवेदक की हाइट का मापन होता है। इसके अलावा चेस्ट का माप लिया जाता है। आवेदक की हाइट कितना होना चाहिए । इसका उल्लेख ऊपर किया गया है। जिसे आप जरूर पढ़े। 


चौथा चरण –डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन


इस तरह से सभी चरणों को पास करने के बाद आवेदक को चौथे चरण में डॉक्यूमेंट का वेरिफिकेशन कराना होता है जिसके लिए एक स्थान निर्धारित किया जाता है जहां पर जाकर आवेदक को अपने डॉक्यूमेंट जैसे आधार कार्ड प्रमाण पत्र अंकपत्र आय जाति निवास हाई स्कूल का मार्कशीट एवं अन्य प्रमाण पत्र आदि। इन सभी प्रमाण पत्रों की जांच के बाद आपका सिलेक्शन जेल वार्डन के रूप में होता है। इस तरह से आप जेल वार्डन ( jail warden ) बनकर अपने सपने को साकार कर सकते हैं।



जेल वार्डन का वेतन कितना होता है? 


जेल वार्डन ( jail warden ) का वेतन कितना होता है यह जानने के लिए आपका मन बहुत उत्सुक होगा । एक जेल वार्डन ( jail warden )को पे स्केल 5200–20,200 ₹ के आधार पर दिया जाता है। यानी एक जेल वार्डन की शुरुआती सैलेरी लगभग 25000₹ होता है । यह सैलरी में TA, DA, HRA भी दिया जाता है।  



जेल वार्डन तथा जेल प्रहरी में क्या अंतर है?


बहुत से आवेदक इस बात को लेकर काफी भ्रम में रहते हैं कि क्या जेल वार्डन ( jail warden ) और जेल प्रहरी में अंतर होता है। यदि आप भी जेल वार्डन तथा जेल प्रहरी के बीच का अंतर नहीं जानते हैं । तो आपको यह जान लेना चाहिए कि जेल वार्डन तथा जेल प्रहरी दोनों एक ही होता है । जेल वार्डन एक अंग्रेजी शब्द है जिसका अर्थ होता है जेल प्रहरी। यानी देखा जाए तो जेल वार्डन और जेल प्रहरी में कोई अंतर नहीं है।


जेल वार्डन का प्रोमोशन 

यदि आप जेल वार्डन ( jail warden ) बनने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको यह जानना भी काफी आवश्यक है कि जेल वार्डन का प्रमोशन होता है या नहीं यदि होता भी है तो वह आगे किस पद पर होता है। एक जेल वार्डन का प्रोमोशन आगे चलकर चीफ हेड वार्डन ( chief head warden ) के रूप में होता है। फिर चीफ हेड वार्डन के पद पर कुछ वर्षो तक कार्य करने के बाद एक जेल वार्डन का प्रोमोशन डिप्टी जेलर ( Deputy jailor ) के रूप में होता है।


आज के इस पोस्ट में बस इतना ही उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा इस पोस्ट में हमने जेल वार्डन कैसे बनें ? ( Jail warden kaise bane ? ) के बारे में सारी जानकारियां प्राप्त की है। यदि अभी भी कोई सवाल हो तो हमें कॉमेंट बॉक्स मे लिख कर जरूर बताएं हम हमेशा तत्पर रहते हैं कि आपके कमेंट का उत्तर दे सकें। 


धन्यवाद

जय हिंद वंदे मातरम्

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ