सुबह जल्दी उठने के तरीके । सुबह जल्दी कैसे उठें ?

 आज के इस आधुनिक युग में हमारी युवा पीढ़ी के लिए सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करना एक सामान्य समस्या के रूप में उभर रहा है । देश में विधार्थी , देश के नागरिक इसके अलावा सभी लोग जो सुबह उठना तो चाहते है मगर आलस्य के कारण नहीं उठा पाते है । यही नहीं इसके अलावा जो सुबह जोगिंग पर जाना चाहते है। मगर नहीं जा पाते है। यह समस्या हमारे युवा पीढ़ी के विद्यार्थियों के लिए भी है । जो अपनी पढ़ाई कर रहे है । चाहे जो यूनिवर्सिटी मेे पढ़ रहे है । चाहे 10 वीं या 12 वीं मेे हो सबके लिए एक सामान्य समस्या है । इस समस्या से निकालना भी हमारे लिए बहुत आवश्यक हो जाता है । 



ऐसे में इस समास्या मेे समाधान के लिए आज के इस पोस्ट "सुबह जल्दी उठने के तरीके" मेे लेकर आए है कुछ बेहतरीन व कारगर तरीके जिसे पालन करने आप अपने दैनिक दिनचर्या को बदल सकते है । और सुबह जल्दी उठकर अपने सेहत को स्वस्थ बनाए रख सकते है। 


क्यों नहीं उठ पाते है सुबह मेे जल्दी :


सुबह जल्दी उठाने ने तरीके जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि हम लोग जल्दी क्यों नहीं उठा पाते है। क्या कारण है कि विद्यार्थी सुबह जल्दी उठकर अपना पढ़ाई नहीं कर पाते है ।


1. देर रात तक जागना

हम लोग सुबह जल्दी क्यों नहीं उठाते हैं इसमें सबसे प्रमुख कारण रात को देर तक जगना है। इस बात की पुष्टि किए गए सर्वे से पता लगाया गया कि आज के समय में जल्दी सुबह न उठने का कारण रात में देर से सोना है। यदि हम रातों को देर से बिस्तर पर नहीं सोएंगे तो जाहिर सी बात है कि सुबह जल्दी नहीं उठाने वाले हैं।



2. रात में अधिक भोजन का सेवन : 

बहुत बार ऐसा होता है कि हम सब रात में भोजन का सेवन प्रयाप्त मात्रा में कर लेते है। जिससे नीद का शिकार हो जाते है। और नीद बहुत अच्छी आती है। इसलिए यदि आप सुबह में जल्दी उठना चाहते है तो आप लोग रात में हल्का भोजन करके सोए । ताकि जल्दी सुबह में उठ सके।


3. शारीरिक थकावट :


सुबह जल्दी न उठने के सन्दर्भ में किए गए सर्वे से यह पता चला कि जब व्यक्ति के अंदर शारीरिक थकावट आती है। तो रात में नीद तो जल्दी आती ही है। और इसके साथ साथ हम सुबह देर से ही उठ पाते है। इस लिए आप शारीरिक थकावट से बचे और हमारे द्वारा बताए नियमों का पालन करें। ताकि आपको सुबह जल्दी उठने में मदद मिल सके।


4. आलस्य प्रवृति : 


संसार में सभी लोग एक जैसे नहीं होते है । इसका प्रभाव हमारे दैनिक जीवन पर भी पड़ता है। विश्व में कई प्रकार के प्रवृति के लोग है। उसी में से कुछ आलस्य प्रवृति के भी होते है। वास्तव में यह आलस्य हमारे भीतर ही विद्यमान रहता है। यदि आप उसमे से है जो आलस्य करते है। तो आपके सुबह न उठने के कारण आलस्य ही है। 


इस तरह से हमे यह पता चलता है कि सुबह में जल्दी न उठने के तमाम कारणों में एक कारण यह आलस्य होता है।

यही आलस्य सभी कामों को अगले दिन में टालता है। इस तरह से हमारे लिए सबसे बड़ा शत्रु आलस्य है। 


इस प्रकार अब तक हम लोगो ने यह जाना कि सुबह उठने में सबसे बड़ी बाधा क्या है। आइए अब हम जानते है कि "सुबह जल्दी उठने के तरीके " के बारे में जानते है। और हमे पूरा विश्वास है कि आपको इस तरीकों के बारे ने पढ़ने के बाद आप सुबह जल्दी उठ पाएंगे। 



सुबह जल्दी उठने के तरीके : 


सुबह जल्दी कैसे उठें । नीचे आपको सुबह जल्दी उठने के रामबाण तरीके बताने जा रहे है। जो आपको दैनिक दिनचर्चा को बदलने में सहायता करेगा। तो आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें। 


1. एक निश्चित समय सारणी :


यदि आप उन लोगों में से सुबह जल्दी उठना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक निश्चित समय सारणी बनानी चाहिए। केवल समय सारणी बनाने से ही नहीं आप सुबह जल्दी उठ पाएंगे । इसके लिए आपको समय सारणी पर अमल करना होता है। 


         यदि आप अपना समय सारणी बनाकर उसपर 21 दिन तक अनुसरण करते है। तो यकीन मानिए कि आप सोच भी नही सकते कि आप सुबह जल्दी उठा पाएंगे। इस बात की पुष्टि वैज्ञानिकों ने बहुत से सर्वे करने के बाद पता लगाया। इस तरह आप समय सारणी बनाए। और उसका अनुसरण करें। 

 


2. समय पर सोना चाहिए: 


समय पर सोना भी सुबह जल्दी उठने के तरीकों में प्रमुख है। जैसा कि हम सब जानते है । कि सोना हमारे जीवन के लिए आवश्यक है। हर इंसान को कम से कम 6 –8 घंटे का नीद रात को लेना चाहिए । यदि आप रात को जल्दी अर्थात समय पर नहीं सोएंगे तो आपको नीद सुबह में देर से पूरी होगी। इस लिए आपको रात में जल्दी सोना चाहिए। जिसके बाद आप सुबह जल्दी से उठ पायेंगे।



3. अलार्म सेट करें :


यदि आप सुबह जल्दी उठना चाहते हैं तो जाहिर सी बात है कि आप बहुत बार सुबह जल्दी उठने का प्रयास भी किया होंगे। सुबह जल्दी उठने के तरीकों में से एक तरीका है आप जितने बजे उठना चाहते हैं उसके लिए अलार्म सेट करें। आप लोगों ने बहुत बार अलार्म सेट किया होगा लेकिन फिर भी सुबह जल्दी उठने में नाकामयाब रहे होंगे। चलिए हम आपको बताते हैं जी आप किस तरह अलार्म सेट करेंगे तो सुबह जल्दी उठ पाएंगे।


सुबह जल्दी उठने के लिए अलार्म लगाते समय एक विशेष सावधानी बरतना चाहिए कि अलार्म आपके बिस्तर से दूरी पर होना चाहिए जहां तक आपका हाथ न पहुंच सके क्योंकि यदि आपका हाथ वहां तक पहुंच जाता है तो आप अलार्म बंद कर सकते हैं इसके बाद आप दुबारा नीद का शिकार हो जाता है। इसलिए आपके लिए यह जरूरी है कि आप अलार्म सेट को अपने पहुंच से दूर रखें और अलार्म का आवाज की तीव्र गति का हो। मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि यदि आप ऐसा करते हैं तो आप जरूर सुबह उठ पाएंगे और अपने दैनिक कार्यों को अच्छे प्रकार से कर सकेंगे।


4. एक विशेष कारण सोचे : 


आप लोगों में से बहुत से लोग सुबह उठना तो चाहते हैं लेकिन उनके पास सुबह उठने का कोई विशेष कारण नहीं होता है यदि आपके पास सुबह उठने का कोई विशेष कारण नहीं है तो मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि आप सुबह जल्दी उठने में कामयाब नहीं होंगे। इसलिए यह जरूरी है कि सुबह उठने के लिए एक विशेष कारण होना चाहिए। 


जैसे यदि आप किसी स्थान की यात्रा ट्रेन से करते होंगे तो जब आप की ट्रेन सुबह होती है तो आपकी नींद बिना किसी विलंब के खुल जाती है। ऐसा इसलिए होता है कि यह एक विशेष कार्य है। 


उपरोक्त उदाहरण से हमें यह स्पष्ट होता है कि हमें सुबह उठने के लिए अपने मस्तिष्क को एक ऐसा सूचना भेजना चाहिए कि हमे सुबह जल्दी क्यों उठना है। 



5. योगा प्लान बनाए: 


जीवन में कोई कार्य हो या पढ़ाई बिना किसी लक्ष्य के आप कार्य को अच्छी प्रकार से अंजाम नहीं दे सकते हैं ठीक उसी प्रकार यदि आप सुबह जल्दी उठने का सोच रहे हैं तो आपको यह सोचने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए हम अगले दिन सुबह उठकर क्या क्या करने वाले हैं उसका विवरण अपने मस्तिष्क को बताएं ताकि आपका मस्तिष्क सुबह उठने के लिए सक्रिय हो जाए। 


सुबह जल्दी उठने के लिए आपको सुबह में योग करने के लिए योजना बनानी चाहिए। योग करने से आपका शरीर स्वस्थ और रोग मुक्त रहता है। और योग करने के लिए आपको सुबह उठना आवश्यक होता है। और इस प्रकार से आप सुबह उठकर योग करने के लिए सुबह जल्दी उठ जाते हैं।


6. सोते समय बोले: 

उपरोक्त में हमने सुबह जल्दी कैसे उठे के बारे में बहुत सी तरीकों को जाना है। उन्हीं तरीकों में से एक तरीका यह है कि यदि आप सुबह जल्दी उठना चाहते है तो किसी विशेष कारण को बार बार सोने से पहले याद करें। जिससे हमारा मस्तिष्क को सूचना प्राप्त हो जाती है। और सुबह जल्दी उठने में हमारी सहायता हो जाता है। 



आज के इस पोस्ट में बस इतना ही उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को " सुबह जल्दी उठने के तरीके" के बारे में सारी जानकारियां प्राप्त हो गई होगी यदि अभी भी आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर अवश्य बताएं हम आपके कमेंट का उत्तर अवश्य देंगे



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ